loading...

साबूदाना खाने के फायदे

loading...

उत्तर भारत में साबूदाने की याद तब आती है जब कोई व्रत रखता है। इस दौरान लोग साबूदाने की खीर और खिचड़ी बनाकर खाते हैं। वैसे तो इसका प्रयोग केवल फलाहार के तौर पर किया जाता है, लेकिन लोग इसका पापड़ और उपमा बनाकर भी खाते हैं। यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ है, जो दिखने में छोटे-छोटे मोती की तरह सफ़ेद और गोल होते हैं। यह सैगो पाम नामक पेड़ के तने के गूदे से बनता है। सागो, ताड़ की तरह का एक पौधा होता है। ये मूलरूप से पूर्वी अफ़्रीका का पौधा है।

भारत में साबूदाने का उत्पादन सबसे ज्यादा दक्षिण भारत में होता है। यह कार्बोहाइड्रेट का सबसे अच्छा स्रोत है, इसके अलावा इसमें कुछ मात्रा में कैल्शियम व विटामिन सी भी होता है। आइए जानते है साबूदाने के फायदे…

एनर्जी बढ़ाए
लोग ज्यादा से ज्यादा काम कर सके, तो इसलिए अपनी एनर्जी को बढ़ाने के लिए तरह-तरह के उपाय करते हैं। बाजार से अलग-अलग एनर्जी ड्रिंक भी खरीदते हैं। अगर आपको घरेलू उपायों में विश्वास है तो आप साबूदाना का सेवन कीजिए। आप चाहे तो साबुदाना सुबह के नाश्ते में खा सकते हैं। इससे आपको ढेर सारे न्यूनट्रियंट्स प्राप्ता होंगे जिससे आप सारा दिन एनर्जी से भरे रहेंगे।

खाना हजम करने में सहायक
पेट की समस्या एक आम समस्या है, जिससे परिवार में हर कोई परेशान रहता है। यदि आप साबूदाना खातें हैं, तो न केवल आपका पेट सही रहेगा बल्कि खाना भी सही तरीके से हजम होगा।

loading...

दस्त के लिए
खाने-पीने में लापरवाही दस्त का कारण बनता है। ऐसे में आप बगैर दूध डाले साबूदाने की बनी हुई खीर बेहद असरकारक साबित होती है और तुरंत आराम देती है।

उच्च रक्तचाप
भागती-दौड़ती जिंदगी में लोग के लिए हाई बीपी या उच्च रक्तचाप की समस्या अब आम बात हो गई है। ऐसे में आप साबूदाने की खिचड़ी या खीर खाएं। इससे खून का फ्लो अच्छास हो जाता है, जिससे धमनियां ठीक तरह से फैलती है और हाई बीपी की समस्या सुधरती है।

एनीमिया रोग के लिए सही
ऐसा माना जाता है कि भारत में 50 फीसदी से ज्यादा लोग एनीमिया बीमारी या खून की कमी के शिकार हैं। इसके लिए सबसे असरदार और सबसे आसान उपाय यह है कि आप साबूदाना खाना शुरू कर दें। यह रेड ब्लड सेल्स का निर्माण करता है, जिससे आपके शरीर के अंदर खून की कमी नहीं रहती।

गर्भ के दौरान शिशु के लिए सही
फोलिक एसिड और विटामिन बी से भरपूर साबूदाना कॉम्प्लेक्स गर्भावस्था के समय गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में सहायक होता है। इसलिए देखा गया है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाएं सबसे ज्यादा इसे खाती है।

हड्डियों और मांसपेशियों को बनाता है मजबूत
कैल्शियम, आयरन और विटामिन से भरपूर साबूदाना न केवल हड्डियों को मजबूत बनाता है बल्कि मांसपेशियों के ग्रोथ को भी फायदा पहुंचाता है।

चेहरे को बनाए कसाव
त्वचा के लिए आप कई तरह के घरेलू उपायों को अपनाते हैं। उन्हीं उपायों में से एक साबूदाना है। साबूदाने का फेसमास्क बनाकर लागाने से चेहरे पर कसाव आता है और झुर्रियां भी कम होती है।

Source: SehatGyan

loading...
Most Interesting, Must Click to Read:
Loading...
error: Content is protected !!