फूड पॉइजनिंग – लक्षण और लाभकारी घरेलू उपचार

Food-Poisoning.jpg
loading...

जब भी हम बाहर का कुछ खा लेते हैं या फिर हम बाहर के खाने में अधिक दिलचस्पी लेते हैं, तो अक्सर हमारा हाजमा खराब हो जाता है। हम अक्सर जल्दी- जल्दी में जो भी मिलता है उसे खा लेते हैं, जिसके कारण हम कई तरह की बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं या फिर हमें फूड पॉइजनिंग हो जाती है। इसका मुख्य कारण है गंदगी। जब भी हम कुछ खाते हैं, अगर वो गंदगी वाले स्थान पर हो या फिर वहा गंदगी हो, तो ऐसे में हानिकारक बैक्टीरिया हमारे शरीर के अंदर चले जाते हैं और यह बैक्टीरिया हमारे शरीर में संक्रमण फैलाते हैं, जिसके कारण हमारी तबियत खराब ही जाती है और कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

फूड पॉइजनिंग के लक्षण
जब भी हमें फूड पॉइजनिंग हो जाता है, तो हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियों के लक्षण दिखाई देते हैं जैसे कि…

1.बार-बार उल्टी आना
2.पेट दर्द होना
3.सिर दर्द होना
4.दस्त आना
5.शरीर का थका हुआ और कमजोर महसूस होना आदि।

फूड पॉइजनिंग के कारण
फूड पॉइजनिंग का सामना हमें तब करना पड़ता है जब हम खाने-पीने की चीजों में सफाई पर ध्यान नहीं देते जैसे कि…

1.बासी खाने का सेवन
2.खाना बनाते समय गंदे पानी का इस्तेमाल
3.खाने पर मक्खियों का बैठना
4.सब्जियों और फलों को अच्छे से न धोना
5.खाना गंदे हाथों से खाना आदि।

फूड पॉइजनिंग होने पर घरेलू उपाय

हानिकारक बैक्टीरिया जब हमारे शरीर के अंदर चले जाते हैं, तो हमें फूड पॉइजनिंग हो सकती है। जब हमें इसे रोकना हो, तो सबसे पहले साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए। फलों और सब्जियों को धोकर खाना चाहिए। ऐसा करने से हम फूड पॉइजनिंग के खतरे से बच सकते हैं और जब हमें फूड पॉइजनिंग हो जाती है, तो हमें कुछ घरेलू उपाय करने चाहिए…
फूड पॉइजनिंग को दूर करने के घरेलू उपाय

loading...

पानी का सेवन
जब भी फूड पॉइजनिंग हो जाए तो सबसे पहले हमें इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि शरीर में पानी की कमी न आ जाये। इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए, साथ ही सूप, चावल का पानी, नारियल पानी, खिचड़ी, ग्लूकोज आदि लेते रहना चाहिए।

अदरक
अदरक से हमारे व्यंजन तो स्वादिष्ट होते हैं, साथ ही यह पाचन संबंधी समस्याओं के लिए भी एक घरेलू उपाय है। एक चम्मच शहद में अदरक के रस की कुछ बूंदे मिलाकर लेने से पेट का दर्द ठीक हो जाता है।

जीरा
फूड पॉइजनिंग होने पर जीरा बहुत ही फायदेमंद होता है। एक चम्मच भुने जीरे को पीसकर अपने सूप में मिलाकर लेने से पेट की सूजन और दर्द कम हो जाता है।

तुलसी
तुलसी संक्रमण के इलाज के लिए बहुत ही शानदार उपाय होता है। फूड पॉइजनिंग होने पर तुलसी के पत्तों के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर खाने से आप को बहुत ही फायदा मिलाता है।

केला
केला में पोटेशियम की अधिक मात्रा होती है, इसलिए जब भी हमें फूड पॉइजनिंग हो तो केले का सेवन करना चाहिए। केले को दही में मैश करके खाने से हमे दस्त से छुटकारा मिल जाता है।

नींबू पानी का घोल
एक गिलास पानी में नींबू का रस, नमक, और चीनी मिलाकर एक घोल तैयार करो, फिर उस घोल को पी लें, इसे एक से दो घंटे के बीच लेते रहें।

दही का सेवन
दही में एंटी बैक्टीरिया गुण पायें जाते हैं, जो हमारे लीवर में होने वाले संक्रमण को रोकते हैं, फूड पॉइजनिंग वाले मरीज को खाली पेट या खाने के तुरंत बाद दही देना चाहिए।

खिचड़ी
फूड पॉइजनिंग वाले मरीज को खिचड़ी देनी चाहिए, क्योंकि यह हल्की होने के कारण आसानी से पच जाती है।

Source: SehatGyan

Most Interesting, Must Click to Read:
loading...
error: Content is protected !!